दोस्ती शायरी

हम नीदं में भी आपके बात करते हैं

“ए दोस्‍त तेरी दोस्‍ती ये नाज करते है हर बकत मिलने की फरियाद करते है हमें नही पता घरवाले बताते है के हम नीदं में भी आपके बात करते हैं ”

जिन्‍दगी की राहों में बहुत से यार मिलेगें

“जिन्‍दगी की राहों में बहुत से यार मिलेगें हम क्‍या हमसे भी अच्‍छे हजार मिलेगें इन अच्‍छों की भीड में हमे ना भूला देना हम कहॉ आपको बार बार मिलेगें ”

जुदाई से प्यार किसको हैं

किस्मत  पर  एतबार  किसको  हैं मिल  जाये  खुसी  इंकार  किसको  हैं कुछ  मजबूरिय  हैं  मेरे  दोस्त वरना  जुदाई  से  प्यार  किसको  हैं

हम दोस्ती करते हैं पानी और मछली की तरह

हम वो नहीं जो दिल तोड़ देंगे, थाम कर हाथ साथ छोड़ देंगे, हम दोस्ती करते हैं पानी और मछली की तरह, जुदा करना चाहे कोई तो हम दम तोड़ देंगे …

प्यार करने वालो की किस्मत

प्यार करने वालो की किस्मत ख़राब होती हैं ! हर वक़्त इन्तहा की घड़ी साथ होती हैं !! वक़्त मिले तो रिश्तो की किताब खोल के देखना ! दोस्ती हर रिश्तो से लाजवाब होती हैं !!

चाँद भी तो हर बार पूरा नहीं होता

हर सपना खुशी का पूरा नहीं होता, कोई किसी के बिना अधुरा नहीं होता, जो रोशन करता है सब रातों को, वो चाँद भी तो हर बार पूरा नहीं होता

दोस्तों की कमी को पहचानते हैं हम

दोस्तों की कमी को पहचानते हैं हम दुनिया के गमो को भी जानते हैं हम आप जैसे दोस्तों का सहारा है तभी तो आज भी हँसकर जीना जानते हैं हम

अजीब है….

अजीब तमाशा है मिट्टी के बने लोगों का यारो, बेवफ़ाई करो तो रोते है और वफ़ा करो तो रुलाते है…

दोस्ती ज़िन्दगी में रौशनी कर देती हैं

दोस्ती ज़िन्दगी में रौशनी कर देती हैं ! हर ख़ुशी को दोगुनी कर देती हैं…..!! कभी झूम के बरसती हैं बंज़र दिल पे ! कभी अमावस को चांदनी कर देती हैं

ये दोस्ती चिराग हैं जलाए रखना

ये दोस्ती चिराग हैं जलाए रखना ! दोस्ती खुशबू हैं महकाए रखना….!! हम रहे आपके दिल में हमेशा के लिए ! इतनी जगह दिल में हमारे लिए बनाए रखना !!