ज़िन्दगी दो दिन की हैं

ज़िन्दगी दो दिन की हैं ! एक दिन आपके हक़ मैं, और एक दिन आपके खिलाफ मैं , इसलिए जिस दिन हक़ मैं हो उस दिन गरूर मत करना और जिस दिन खिलाफ हो उस दिन थोडा सा सब्र  रखना

Leave a Reply