तीन शब्दों में मैंने ज़िन्दगी

तीन शब्दों में  मैंने ज़िन्दगी में जो कुछ भी सीखा है उसका सार दे सकता हूँ– ज़िन्दगी चलती जाएगी.

———————-  राबर्ट फ्रोस्ट

 

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.