जख्म जब मेरे सीने के भर जायेंगें

जख्म जब मेरे सीने के भर जायेंगें ….
आसूं भी मोती बन कर बिखर जायेंगें ….
ये मत पूछना किस-किस ने धोखा दिया ….
वर्ना कुछ अपनों के चेहरे उतर जायेंगें

One Response

  1. DILEEP KUMAR
    DILEEP KUMAR at | | Reply

    जख्म जब मेरे सीने के भर जायेंगें ….
    आसूं भी मोती बन कर बिखर जायेंगें ….
    ये मत पूछना किस-किस ने धोखा दिया ….
    वर्ना कुछ अपनों के चेहरे उतर जायेंगें

Leave a Reply